E-Sim Kya hai और कैसे काम करता है

Share:

E-Sim क्या है और कैसे काम करता है


E-sim
E-Sim

Hello दोस्तो आजकल एक टेक्नोलॉजी(Technology) काफी Treand लोकप्रिय है E-Sim जब से Apple ने अपने नये Iphone मे E-Sim का एक Option दिया है तब से ये टेक्नोलॉजी काफी चर्चा मे है। लोग ये जानना चाहते है कि ये e sim क्या है ये काम कैसे करती है क्या ये सिम पुराने फ़ोन मे व लग सकता है ये पुराने सिम से कितना अलग है क्या है इसके फायदे और क्या है इस के नुकसान।
तो दोस्तों इस Blog Post मे आप को E Sim से जुड़ी सभी जानकारी मिलेगा।

History of E-Sim

अगर हम फ़ोन की बात करे तो गूगल(Google) ने अपने Pixel 2 मे इसे सब से पहले Use किया था।
ये टेक्नोलॉजी उस Time ज़्यादा Popular नही हुआ था।
अगर हम E-Sim  की बात करे तो ये Technology दुनिया के केबल 10 देशों मे है  जैसे की ऑस्टिया ,कनाडा ,क्रोएशिया Czech Republic,Germany. ​Hungary. ​India. ​Spain,uk ,us मे ये Service है 

What is E-Sim?( esim क्या है)

इसका full form है embedded (Subscriber Identification Module)
ये एक ऐसी टेक्नोलॉजी(Technology) जिस से हमे बार बार अलग अलग Network Provider के सिम को अपने Device मे लगाने की जरूरत नही है इसका मतलब E-Sim को डिवाइस के mother board मे Fix होगा नही तो इसे बस एक बार अपने device मे लगना होगा और इस के हेल्प से हम किसी भी नेटवर्क Operater के नेटवर्क को access कर shakte है
E-sim pic
E-sim

E-Sim काम कैसे करता है?
आप को एक example से समझाता हु जैसे कि हमारा फसबूक(Facebook)का account है उसे हम अपने email और पासवर्ड(password) से login किसी व Device मे कर सकते है अगर उस Device मे एक web brouser और इंटरनेट होना चाहिये इसी तरह से हम E-Sim को व अपने डिवाइस मे use कर सकते है। कुछ ऐसे Device hoga जिस मे E-Sim उसके mother board मे लगा होगा और कुछ डेविस मे आप को एक स्लॉट मिल जायेगा जिस मे हमे सिम जो Insert करना होगा । E Sim को Insert करने के बाद हम जिस व नेटवर्क ऑपरेटर का सिम लेंगें उसका कुछ id और पासवर्ड(पासवर्ड)/ या फिर कुछ code दिया जाएगा जिस से हम अपने फ़ोन मैं उस सिम को Login कर के Use कर सकते है।

1 comment: